हमारी शिक्षा – २

हमारी शिक्षा – २
यदि मैं कहूँ कि हमारी शिक्षा के हर साल में
ध्यान की क्लास ज़रूर होनी चाहिए
कोई और क्लास हो के ना हो
तो आप मानेंगे क्या
मान भी लीजिए

यदि हमारे समाज में सुख शांति आती है
जो की अभी तो है ही नहीं
यदि ऐसी सुख शांति आ जाए
तो कोई हर्ज तो नहीं है ना

जो ध्यान मैं बता रहा हूँ
शांति या प्रकृति ध्यान
वो कोई ना भी माने
संसार में और भी कई तरह के ध्यान हैं
जो जिसको ठीक लगता है
वो उसको चुन ले
और कम से कम दो चार महीने उसी का अध्यन करे
ये हमारी शिक्षा में हर साल ज़रूर होना चाहिए
और कुछ हो ना हो

Leave a Reply